मस्जिदों से हो एलान हमारे बीच से नहीं है दहशतगर्द – मुफ़्ती आमिर जमाल

यहाँ से शेयर करें

हाल में हो रही आतंकवादी घटनाओं से मुस्लिम समाज को मिल रही है बदनामी किसी बी आतंकवादी घटनाओं का जिम्मेदार मुस्लमान को ठहराया जा रहा है जिससे मुस्लिम उलेमाओं के लिए चिन्ता का सवब बना हुआ है. इन सब बजह के चलते मुफ़्ती आमिर जमाल ने अपना एक प्रेस नोट जारी करते हुए कहा कि मस्जिदों से यह ऐलान हो चाहिए की आतंकवाद हम में नहीं है.

दहशतगर्द कभी भी मुसलमान नहीं हो सकता इस्लाम को बदनाम करना बंद करो

मुफ़्ती आमिर जमाल साहब ने कहा के यह एलान ख़ास तौर पर जुमे के दिन होना चाहिए अगर कोई आतंकवादी घटना करता है तो उस का जिम्मेदार सिर्फ और सिर्फ ब्याक्ति से जोड़ा जाए न की पूरी मुस्लिम बिरादरी को इसका जिम्मेदार ठहराया जाये मुफ़्ती आमिर जमाल ने कहा आतंकवाद पूरी तरह से मुस्लिम सिंद्धान्तों बिलकुल अलग है.

यह भी पढ़ें:- कश्मीर में फैले तनाव पर बोले ओवेसी

अगर कोई ऐसा करता है तो वह मुस्लमान हो ही नहीं सकता क्योकि अगर जो मुस्लमान निहत्ते लाचार और वेबस लोगों को मरता है तो कुरआन और हदीस को झुठलाता है और जो इंसान नवी के बताये रास्ते पर नहीं चलता तो वह मुस्लिम हो ही नहीं सकता इन क्योकि आज कल होने वाली पूरी घटनाओं को इस्लाम के सिंद्धान्तों से परे बताया .

मुफ़्ती आमिर जमाल ने इन सब वातों की बजह उन मतलब परस्त लोगों को बताया जो अपने फ़ायदे के लिए इस्लाम का नाम इस्तेमाल कर बदनाम कर रहे है. मुफ़्ती आमिर जमाल को हाल ही में असदउद्दीन ओवेसी की पार्टी आल इंडिया मंजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन से मध्यप्रदेश भोपाल का सादर वनाया गया है

यह भी पढ़ें:- आखिर क्यों छोड़ा BJP का दामन नवजोत सिंह सिध्दू ने

**आप बहुत लंबे अरसे से लोगों की मदद और कौम के लिए जद्दो जेहद करते रहे है और समय समय पर अपने वक्तव्य से समाज में फैली बुराइयों का खंडन करते आ रहे है.

इस पोस्ट को दुसरे भाई लोगों तक Facebook पर शेयर करने की मेहरबानी करें शुक्रिया.