बाबरी मस्जिद केस प्रमुख, हाशिम अंसारी की आखरी ख्वाहिश रह गई अधूरी

यहाँ से शेयर करें

बाबरी मस्जिद के केस के प्रमुख जनाब हाशिम अंसारी का लंबी बीमारी के बाद उनका निधन हो गया था, हाशिम अंसारी की अंतिम यात्रा में उत्तर प्रदेश के नेता आज़म खान सहित अखाडा प्रमुख एबम मंदिर के पुजारी के साथ साथ सभी सियासी चेहरे हाशिम अंसारी की अंतिम यात्रा में शामिल हुए थे.

हाशिम अंसारी की मौत के बाद कौन है बाबरी मस्जिद का पक्षकार

बाबरी मस्जिद एक्शन कमेटी के संयोजक जिलानी ने कहा कि फिलहाल मामला सुप्रीम कोर्ट में है और चल रहा है. हाशिम अंसारी द्वारा इस केस का उत्तराधिकारी उन्होंने अपने बेटे को बनाया था. आने वाले समय में केस की पैरवी हाशिम अंसारी के बेटे करेंगे.

वही दुसरी और रामलाल बिराजमान  कमेटी के वकील ने कहा कि हाशिम अंसारी के इस केस में न होने से केस में कोई फर्क नहीं पड़े उन्होंने यह बी कहा ही हाशिम अंसारी एक नेक दिल इंसान थे उन्होंने समाज की एकता और सद्भावना के लिए बहुत नेक काम किये है.

आखरी ख्वाहिश रह गई अधूरी

हाशिम अंसारी चाहते थे की उनके रहते इस मुद्दे की देश की जनता आपसी बातचीत से सुलझा ले जिससे देश में अमन और शांति पूरी तरह बहाल हो सके और हाशिम अंसारी चाहते थे की मंदिर बी बने और मस्जिद बी आने मगर मगर हो एक छत के नीचे जिससे देश के लोगों के दिलों में आपसी मोहब्बत बड़े. अब कोई हिन्दू इस बात को आगे बढ़ाए तो ये मुद्दा जल्द हल होगा.

 

दोस्तों अगर आपने अभी तक हमारा Facebook पेज लाईक नहीं किया है तो मेहरबानी करने इसको लाईक करें जिससे इस वेबसाइट की आने वाली नयी पोस्ट की जानकारियां आपके प्रोफाइल पर दिख जाया करेंगी.