भारत सरकार अगर इस शर्त को मन ले तो”दाऊद”इब्राहिम होगा भारत में

यहाँ से शेयर करें

मुंबई ब्लास्ट 1993 का मुख्य आरोपी दाऊद इब्राहिम भारत की पहुँच से आज भी लापता है लेकिन कहा जाता है उसके खौफ की धमक आज भी भारत में साफ साफ देखी जा सकती है l ख़बर यह है कि दाऊद इब्राहिम पाकिस्तान में छिपा हुआ है l

भारत सरकार ने दाऊद को भारत लाने की कोशिशे तेज कर दी हैं लेकिन अब एक नई खबर आ रही है कि दाऊद इब्राहिम भारत आ सकता है लेकिन उसकी कुछ शर्तें हैं जो की भारत सरकार को मानना पड़ेगी ये बातें जाने माने वकील श्याम केसवानी ने कही है।

श्याम केसवानी ने कहा कि दाऊद 5 साल पहले ही पिछली सरकार को अपनी शर्त बता चुका था और अपनी शर्त पर भारत आने के लिए भी तैयार हो गया था l लेकिन दाऊद की शर्तों को नही माना अगर मान लिया होता तो दाऊद आज भारत की जेल में होता। केसवानी ने कहा कि दाऊद के लोग वकील राम जेठमलानी से लंदन में मिले थे और कहा था कि दाऊद भारत आना चाहता है लेकिन उसकी कुछ शर्तें हैं l

दाऊद की तरफ से शर्त रखी गयी थी कि दाऊद अगर भारत आता है तो उसे मुंबई के ऑर्थर रोड जेल में ना रखा जाय l मनमोहन सरकार ने 5 साल पहले की शर्त को नही माना था, जबकि अबू सलेम और छोटा राजन के मामले में भारत सरकार ने गंभीरता दिखाई और उनकी शर्तों को मान लिया और उसका नतीजा ये रहा कि ये दोनों आज भारत की जेल में हैं l

वर्तमान में दाऊद भारत आना चाहता है या नही, इस सवाल पर केसवानी ने कहा कि “दाऊद आज भी भारत आना चाहता है या नही, ये तो पूछना पड़ेगा लेकिन अगर आज भी भारत सरकार उन्हें सुरक्षा मुहैया कराये और उसकी शर्तें मान ले, तो दाऊद जरूर भारत आएगा।

वही छोटा राजन की शर्त थी कि उसे सुरक्षा मुहैया कराई जाय और तिहाड़ जेल में ना रखा जाय l इस शर्त को मानते हुए छोटा राजन को सीबीआई के बंगले में रखा गया l अबू सलेम ने भी भारत सरकार के सामने शर्त रखी थी कि अगर वो भारत आता है तो ऐसे आरोप ना लगे जिसमें फांसी की सजा हो और तब उसकी इस शर्त को भारत सरकार ने मान भी लिया था, लेकिन दाऊद के मामले में सरकार ने उसकी शर्तों को नही माना l श्याम केसवानी ने कहा “सरकार बाकी दूसरे आरोपियों की शर्तें मान रही है, लेकिन अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद की शर्त नही मान रही है l