बिसाहड़ा में पुलिस की मौजूदगी में मुसलमानों को धमकाया जा रहा, पलायन कर रहें हैं मुसलमान

यहाँ से शेयर करें

अख़लाक़ के हत्या के आरोपी की जेल में हुई मौत के बाद भगवा संगठनों ने इस मामलें को भड़काते हुए स्थानीय मुसलमानों को निशाना बनाना शुरू कर दिया हैं. पुलिस की मौजदुगी में मुसलमानों को खुलेआम धमकाया जा रहा हैं. जिसके कारण स्थानीय मुसलमानों को गाँव छोड़कर पलायन करना पड़ रहा हैं.

मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए इलाके में बड़ी संख्या में पुलिस और पीएसी को तैनात है. इसके बावजूद धरनास्थल से गोरक्षा हिंदू दल के नेताओं द्वारा जहरीले बयान दियें जा रहें.

गोरक्षा हिंदू दल के नेताओं द्वारा मुसलमानों के खिलाफ आपतिजनक शब्दों के इस्तेमाल और धमकियाँ भी दी जा रही हैं. जिसके कारण कई लोग परिवार सहित रिश्तेदारों के यहां चले गए हैं. और जो गाँव में मौजूद हैं डर के कारण घरों से बाहर भी नहीं निकल पा रहें हैं.

गुरुवार को बिसाहड़ा में हिंदुओं की सभा बुलाई गई जिसके बाद से ही मुस्लिम युवाओं को गांव से बाहर भेजा जा रहा है. वहीँ भगवा संगठनों के कार्यकर्ता रविन का शव फ्रीजर में रखकर उसके घर के बाहर धरने पर बैठ कर रविन के परिवार को 1 करोड़ रुपये की मदद देने समेत अपनी 6 मांगों को पूरी किये जाने की मांग करते रहें. हालांकि सरकार ने रविन के परिवार को 10 लाख रुपये देने का प्रस्ताव रखा हैं. साभार-कोहराम न्यूज़