बिहार : 7 जिलों में उपद्रव, ‘इंटरनेट पर रोक’ दंगाइयों ने 40 से अधिक गाड़ियों में लगाई आग

यहाँ से शेयर करें

पटना। बिहार के 7 जिलों में दशहरा और ताजिया जुलूस के बाद से तनाव है। गोपालगंज, भोजपुर, पूर्वी चंपारण और मधेपुरा जिले में उपद्रव के बाद प्रशासन ने इंटरनेट पर रोक लगा दी है। इन जिलों में पथराव में कई पुलिसकर्मी और आमलोग घायल हुए हैं और 40 से अधिक गाड़ियों को जला दिया गया है। 60 से अधिक लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया है। आरा के पीरो में उग्र लोगों ने बस में लगाई आग।

भोजपुर में 20 अधिक गाड़ियों में लगाई आग

किस जिले में क्या है स्थिति…

12 अक्टूबर:
भोजपुर जिले के पीरो में ताजिया जुलूस के दौरान दो गुटों में रोड़ेबाजी हो गई। DSP और पुलिस के दो जवान घायल हुए और पुलिस ने हवाई फायरिंग की।
13 अक्टूबर:
6 गाड़ियां जला दी गई। पीरो में पूरे दिन आगजनी और तोड़फोड़ हुई। पुलिस ने पूरे क्षेत्र को छावनी में तब्दील कर दिया।
14 अक्टूबर:
उपद्रवियों ने पैसेंजर ट्रेन पर पथराव किया। पुलिस पर पथराव और फायरिंग भी की। ट्रेन में सवार लोगों को लाठी और रॉड से पीटा।
15 अक्टूबर:
इंटरनेट सेवा बंद करने के बाद कुछ दूरसंचार कंपनियों की वायस सेवा भी प्रभावित। माहौल तनावपूर्ण। अब तक 20 से अधिक लोग गिरफ्तार किए गए हैं।

दुर्गा की मूर्ति को विसर्जन के लिए ले जाया जा रहा था। मस्जिद के पास दो समुदाय में तनाव हुआ। इसी दौरान पथराव व फायरिंग की गई। इसके बाद शहर का माहौल तनावग्रस्त हो गया। उपद्रवियों ने दो कारों और तीन बाइकों में आग लगा दी। पथराव में दो पुलिसकर्मी सहित सात लोग घायल हो गए। इंटरनेट सेवा पर रोक लगी।

पूरे जिले में तनाव की स्थिति है। शहर में धारा 144 लागू कर दी गई है और दुकानें बंद हैं। उपद्रवियों ने अस्पताल चौक स्थित एक फुटवेयर दुकान में लूटपाट की और 8 लाख से अधिक की संपत्ति लूट ली। उग्र लोगों ने 4 बड़े व 5 दो पहिया वाहनों को भी जला दिया है। पुलिस ने कई लोगों को हिरासत में लिया है।